संदेश

April, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

बंजारा सी है जिन्दगी

बंजारा सी है जिन्दगी
हर पल ले जाती है एक  संसार में
हर नया दिन मुझे एक नया
अनुभव दे रहा है ,
विस्मृत हो चुकी है जो बाते
उनका मतलब बदल गया है
और आने वाले समय ने खुद में
न जाने कितनी बातें छुपा रखी है
कहाँ से कहाँ ले जा रही है मुझे
जीवन जीने की प्यास
कुछ पाने की तलाश
हर पल बना रही है मुझे
और अधीर
क्योकि
यही तो बंजारा जिन्दगी है
जो हर पल बदती आगे ही है
देती है हमे न जाने कितने अनुभव
और हर पल हमें विद्यार्थी
ही बनाये रखती है ,
और अच्छा ही की हम बंजारे ही बने रहे
जिन्दगी के खजाने खोजते रहे
बीएस हमेशा पाते ही रहे
और खोने से न डरे